प्रीलिम्स 2019

भारतीय निर्यात-आयात बैंक (एक्जिम बैंक)

समाचार का महत्व:

केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने भारतीय निर्यात-आयात बैंक (एक्जिम बैंक) के पुनर्पूंजीकरण को मंजूरी दे दी है। जिसके तहत भारतीय निर्यात-आयात बैंक में नई पूंजी लगाने के लिए भारत सरकार 6,000 करोड़ रुपये के पुनर्पूंजीकरण बांड जारी करेगी जिससे, नई पूंजी लगाने से भारतीय कपड़ा उद्योगों को आवश्यक सहायता देने, रियायती वित्त योजना (CFS) में संभावित बदलावों, भारत की सक्रिय विदेश नीति और रणनीतिक मंशा को ध्यान में रखते हुए भविष्य में नई ऋण रेखा की संभावनाओं जैसी नई पहलों को बढ़ावा मिलेगा।

एक्जिम बैंक:
• भारतीय निर्यात-आयात बैंक (एक्जिम बैंक) भारत सरकार की पूर्ण स्वामित्व वाली प्रमुख निर्यात ऋण एजेंसी है। जो कि भारत से निर्यात के लिए ऋण उपलब्ध कराती है। इसकी स्थापना एक संसदीय अधिनियम के तहत वर्ष 1982 में भारत के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार के वित्त पोषण, इसे सुविधाजनक बनाने और बढ़ावा देने के लिए शीर्ष वित्तीय संस्थान के रूप में की गई थी।
• यह बैंक मुख्यतः भारत से निर्यात के लिए ऋण उपलब्ध कराता है। भारत से विकासात्मक एवं बुनियादी ढांचागत परियोजनाओं, उपकरणों, वस्तुओं और सेवाओं के निर्यात के लिए विदेशी खरीदारों और भारतीय आपूर्तिकर्ताओं को आवश्यक सहायता देना भी इसमें शामिल है।
• इसका नियमन भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा किया जाता है।

स्रोत: पीआईबी